PHISHING KYA HAI? – हिंदी में जानकारी |

यहां पर आज PHISHING KYA HAI? और हम आपको यहां पर है पूरी जानकारी देंगे, कि इसे किस प्रकार से बचा जा सकता है और किन बातों का इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय सबसे ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत है |

क्योंकि हम बता दें कि PHISHING ATTACK हमेशा इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय ही होता है जिससे कि आप की सारी नई जानकारियों को ATTACK के माध्यम से कोई भी प्राप्त कर सकता है |

एक प्रकार से इंटरनेट से चोरी करने का सामान्य रूप है और सबसे ज्यादा इसी के माध्यम से इंटरनेट पर छोड़ी की जाती है खासकर के भारत इस मामले में तीसरे नंबर पर आता है जहां पर पहले नंबर पर अमेरिका और दूसरे नंबर पर रसिया है |

सबसे ज्यादा PHISHING ATTACK अमेरिका में होते हैं क्योंकि अमेरिका में इंटरनेट का काफी ज्यादा इस्तेमाल होता है और लगभग हर एक चीज ऑनलाइन है इसकी वजह से ज्यादा अटैक होने की संभावना भी होती है |

भारत में इंटरनेट इतना ज्यादा लोकप्रिय नहीं है और अधिकांश काम आज भी ऑफलाइन किए जाते हैं जिसकी वजह से इस प्रकार की अटैक थोड़ी से कम देखने को मिलते हैं लेकिन जिस प्रकार से हम डिजिटल युग की तरफ बढ़ रहे हैं उससे लगता है कि आगे आने वाले समय में और भी ज्यादा अटैक देखने को मिलेंगे |

इसलिए हम इस पोस्ट के माध्यम से PHISHING KYA HAI? और इसे किस प्रकार से बचा जा सकता है इसकी संपूर्ण जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी के साथ में सरल शब्दों में साझा करने वाले हैं |

Mobile Screen Record कैसे करें? – हिंदी में जानकारी |

DEBIT CARD KYA HAI? WHAT IS DEBIT CARD |

PHISHING KYA HAI?

इसके नाम से ही पता चल जाता है कि यह एक प्रकार से किसी को पकड़ने से संबंधित बात है यह आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन में किसी ईमेल या फिर एसएमएस के द्वारा सेंड किया जा सकता है |

इसके माध्यम से इंटरनेट के माध्यम से किसी की भी गोपनीय जानकारियों को चंद मिनटों में प्राप्त किया जा सकता है जैसे कि उसके बैंक से संबंधित जानकारियां और निजी डेबिट क्रेडिट कार्ड की सारी जानकारियों को इस अटैक के माध्यम से प्राप्त किया जाता है |

एक प्रकार से इस तरीके का इस्तेमाल इंटरनेट पर धोखाधड़ी करने के लिए किया जाता है और ऐसे बहुत से  सॉफ्टवेयर इंटरनेट पर उपलब्ध है जिसके माध्यम से PHISHING ATTACK को किया जाता है |

अधिकांश इस तरीके का इस्तेमाल HACKERS के द्वारा किया जाता है जिससे कि वह किसी भी व्यक्ति की सारी जानकारियों को इस तरीके के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं और उसके बाद में उसे इंटरनेट पर कहीं और बेचकर अच्छे पैसे कमा सकते हैं |

अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय सही तरीके से ध्यान नहीं रखेंगे तो आपको पता ही नहीं चलेगा और आपकी सारी जानकारियों को कोई भी चुरा सकता है जहां पर डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड और यह सारी बैंक की जानकारी होने के बाद कोई भी बैंक से पैसे भी आसानी से निकाल सकता है |

फिशिंग अटैक से कैसे बचा जाए

यहां पर अभी तक इस पोस्ट के माध्यम से PHISHING KYA HAI? के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है लेकिन अभी हम बात करते हैं कि अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और इस प्रकार के अटैक से बचना चाहते हैं तो किस प्रकार से बचा सकते हैं उसकी संपूर्ण जानकारी को नीचे प्रदान कर रहे हैं |

  • एक बात का आप को ध्यान रखना है कि जब भी आप अपना ईमेल आईडी ओपन करें तो वहां पर अगर आपको कुछ SPAM EMAIL जैसा देखने को मिले तो उसे मेल को कभी भी ओपन नहीं करना है और तुरंत ही उसे डिलीट कर देना है क्योंकि अधिकांश इस प्रकार के अटैक ईमेल के माध्यम से ही आते हैं |
  • इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट को ओपन करने से पहले 2 बार चेक कर लेना कि इंटरनेट पर काफी इस प्रकार की वेबसाइट होती है जिस पर अगर आप को ओपन करते हैं तो ऐसे में आप कंप्यूटर में अटैक हो सकता है |
  • स्मार्ट फोन के अंदर किसी भी प्ले स्टोर के अलावा एप्लीकेशन को इंस्टॉल नहीं करना है ऐसा नहीं है कि इंटरनेट से किसी भी वेबसाइट से एप्लीकेशन को इंस्टॉल करते हैं इससे काफी बड़ी नुकसान हो सकता है |
  • इसके अलावा अपने बैंक और दूसरे महत्वपूर्ण अकाउंट से संबंधित जानकारियों को किसी के साथ में शेयर नहीं करना है खास करके इंटरनेट पर किसी के साथ में भी बिल्कुल कोई भी जानकारियों को साझा नहीं करना |
निष्कर्ष 

हमने इस पोस्ट के माध्यम से PHISHING KYA HAI? के विषय के ऊपर संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है और बताया कि किस प्रकार से आप इस प्रकार के अटैक से अपने आप को बचा सकते हैं लेकिन फिर भी इस विषय के ऊपर कोई सवाल है ऐसे में नीचे कमेंट्स के जरिए भी अपने सवाल हमसे पूछ सकते हैं |

Leave a Comment